SEBI Registration No - INA000003197 Investment in stock and commodity market are subject to market risk. Please do not trade on those tips which are not provided through SMS.

Blog

profit in stock

ब्रोकरेज हाउस के 10 फेवरेट स्टॉक्स में मिलेगा 50% तक रिटर्न, आप भी लगाएं दांव

फेडरल रिजर्व की बैठक से पहले स्टॉक मार्केट में उतार-चढ़ाव का रुख देखने को मिल रहा है। पिछले हफ्ते मार्केट की गिरावट में निवेशकों के 1.25 लाख करोड़ रुपए डूब डूब गए। ऐसे में निवेशकों को निवेश से पहले खास रणनीति बनाने की जरूरत है। गिरावट स्टॉक मार्केट में निवेश का मौका माना जाता है। ऐसे में कई बड़े ब्रोकिंग हाउस ने कुछ चुनिंदा स्टॉक पर खरीदारी की सलाह दी है। इन कंपनियों के मजबूत फंडामेंटल को देखते हुए इनमें अच्छा रिटर्न मिलने की गुंजाइश है।.

पावर मेक प्रोजेक्ट्स
पिछले 1 महीने के दौरान पावर मेक के स्टॉक में 10 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है। जिससे स्टॉक का वैल्यूएशन आकर्षक हो गई है। सेंट्रम वेल्थ ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट में पावर मेक पर खरीदारी की सलाह दी है। जून क्वार्टर में कंपनी की ऑर्डर बुक में 600 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। वहीं दूसरे क्वार्टर में कंपनी को 1500 करोड़ रुपए के ऑर्डर मिलने की उम्मीद है। कंपनी की कुल ऑर्डर बुक 3,442 करोड़ रुपए पहुंच गई है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज
ब्रोकरेज फर्म सीएलएसए ने रिलायंस इंडस्ट्रीज पर खरीदारी की सलाह दी है। अपनी रिपोर्ट में सीएलएसए ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज का स्टॉक जियो के सेवाएं लॉन्च होने के बाद अनुमान से कम वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहा है। कंपनी ने 31 दिसंबर तक फ्री सेवाएं देने की योजना बनाई है।.

वर्धमान टेक्सटाइल
एसएमसी ग्लोबल ने अपनी रिपोर्ट में वर्धमान टेक्सटाइल पर खरीदारी की सलाह दी है। वर्धमान टेक्सटाइल कॉटन यार्न की मैन्युफैक्चरर और एक्सपोर्टर है। कंपनी के देशभर में 20 मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट और 1800 रिटेल आउटलेट हैं।.

सोलर इंडस्ट्रीज
आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने अपनी रिपोर्ट में सोलर इंडस्ट्रीज पर खरीदारी की सलाह दी है। जून क्वार्टर में कंपनी के रेवेन्यू में 9.6 गिरावट देखने को मिली। उम्मीद से कम वॉल्यूम ग्रोथ रहने से रेवन्यू में गिरावट दर्ज की गई। रोड और कंस्ट्रक्शन सेक्टर से कंपनी की वॉल्यूम ग्रोथ बढ़ रही है इसके अलावा डिफेंस से भी कंपनी के ऑर्डर में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। विदेशों में कारोबार विस्तार की योजना है।

कोल इंडिया
दूसरे क्वार्टर में नई फ्यूल सप्लाई एग्रीमेंट का फायदा कोल इंडिया को मिलने की उम्मीद है। इससे कोल इंडिया का वॉल्यूम और अर्निंग पर असर पड़ेगा।.इससे कंपनी पर सातवें वेतन आयोग के लागू होने से पड़ने वाला असर कम होगा। इसके अलावा पावर सेक्टर से डिमांड बढ़ने का असर भी कंपनी को हो मिलेगा।.

अधिक जानकारी के लिए अपना नंबर तुरन्त रजिस्टर करे और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाए शेयर बाजार से